शिव कृष्णा महिमा वर्णन

राधा रानी का आशीर्वाद श्रीकृष्ण चरण रज परमप्रसाद   आह्लादित मन वृंदावन बस सुरेंद्र नमन हरि:हर एक स्वास   धर्मेन्द्र धरण कर शिव महिमा गुंजन मन बोले नमः शिवाय   मुरुगणस्वामी या दामोदर मिले विघ्न हरण का शरण प्रसाद   हो शेषनाग व्यापि में मन रावणवधकर्ता में स्नेहिल अनुराग   …

Back to Top