सत्यमेंव जयते

सत्य परेशां हो सकता हैपर कभी पराजित हो भी क्योंसत्य सताया जा सकता हैपर कभी हार ये माने क्यों सत्य में है स्वावलंबनसत्य में ही ब्रह्म हैसत्य में गौरव छिपा हैसत्य में अवलंब है सत्य में ही न्याय हैसत्य ही सर्वस्व धनसत्य स्वयम्भू ब्रह्म निर्मितसत्य रखता स्वस्थ मन सत्य वीर …

Back to Top