निर्गुण भजन – चिंता चिता समान

निर्गुण भजन हे साधो चिंता चिता समान हे साधो चिंता चिता समान राम नाम का सुमिरन कर ले त्यागहु तम अभिमान हे साधो चिंता चिता समान पंचतत्व मिली बनी है शरीरा जा पर तोहे गुमान, रे साधो जा पर तोहे गुमान चार जनि तोहे पहुंचा दैंहिमरते ही शमशान हे साधो …

Back to Top