राजनीतिक उपनाम या उपाधि

सब आँखों की दृष्टि है या कुदृष्टि है …
आज समझ आ रहा है कि ….
पिछले 70 सालों में जिन-जिन लोगों को जो नाम व उपनाम या उपाधि .. कांग्रेस गवर्मेंट ने प्रदत्त किये … सब केवल छलावा था ….. हक़ीक़त व ईमानदारी से बहुत दूर ।।

चंद उदहारण …
ओरिजनल गाँधी महात्मा थे ……………
ओरिजनल गाँधी देश के राष्ट्रपिता थे …..

जवाहरलाल नेहरू राष्ट्र के चच्चा थे …..
फ़िरोज़ खान , फ़िरोज़ गाँधी थे ………….
इंदिरा …. इंदिरा गाँधी थीं ………………..
राजीव … राजीव गाँधी थे ………………..

एंटोनियो माइनो .. सोनिया गांधी हैं ………
रेहान वाड्रा .. रेहान राजीव गाँधी हैं ………

ठीक वैसे ही …जैसे ..
मुंबई पुलिस … दुनिया की बेस्ट पुलिस ” स्कॉटलैंड यार्ड ” के समकक्ष है ….. या देसी स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस है …
मोस्टवांटेड आतंकवादी दाऊद को आपने ही पाला … फिर पोसा …. फिर आपने ही भगा भी दिया …
2005 … में जब आज के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने जब दाऊद को मारने की पूरी प्लानिंग कर ली … तो मुंबई पुलिस उसको बचाने सामने आ गयी ….


26/11 में हिन्दू आतंकवाद की साजिश रचने में आपके ही अधिकारियों का हाथ था …. वो तो महान शहीद तुकाराम ओंबले ने अपनी जान देकर आपकी साजिश को नाकाम कर दिया …
ठीक वैसे ही जैसे सुशांत सिंह राजपूत के मर्डर को आपने 2 घंटे में आत्महत्या घोषित कर दिया …. पर अब CBI आपको हर पल नंगा कर रही है ….


काहे की देसी स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ….
बिहार का एक पुलिस अधीक्षक जाँच करने क्या गया … महाराष्ट्र गवर्नमेंट की आंखें बाहर आ गयीं ….
अरे …. स्कॉटलैंड यार्ड को छोड़ो …
तुम तो हमारी यूपी , बिहार पुलिस वालों के जूते पॉलिश करने के लायक भी नहीं हो

……………… ए यस पँवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top