आजादी 26 मई 2014

लोग आज हिंदुस्तान की आज़ादी का जश्न मना रहे हैं …
मनाना भी चाहिये … क्योंकि देश आज एक अर्से के बाद सफेद अंग्रेजों से एक खूनी बंटवारे के बाद आज़ाद हुआ था
लोग भी जश्न मना रहे थे …

शनै शनै पता चला … कि आजादी का फलसफा तो सफेद से काले अंग्रेजों में परिवर्तित हो गया ….
गोरे की जगह काले अंग्रेज आ गये …
उन्होंने ने कहा लड्डू खाओ … पर बिना लोगों की शहादत जाने …
केवल नेहरू.. गाँधी के गुन गाओ …

लोगों नें 70 सालों तक आपकी बात सर आँखोँ पर रखी …
झंडा फहराया … लड्डू खाये .. जय हिंद व वंदेमातरम भी बोला …
पर दिल से बोलूँ …..

मेरी असल आज़ादी 26 मई 2014 थी
जब पहली बार मुझे अपनी साँसों पर कोई बंदिश महसूस नहीं हुयी …
जब पहली बार घुटन भरे माहौल में … ताज़ी हवा का झोंका आया …..
सबको 15 अगस्त की हार्दिक शुभकामनाएं ……
पर मेरे लिये 26 मई 2014 ही असली स्वतंत्रता दिवस है ……

” Happy Independence Day “

 

…………. ए यस पँवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top